इस व्हेल का दुनिया में कोई नहीं, क्या आप इसके दोस्त बनेंगे ?

0

न्यूयॉर्क। साल 2004 में न्यूयॉर्क टाइम्स ने दुनिया की सबसे तन्हा व्हेल मछली के बारे में एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी।साइंटिस्ट,1992 से उस व्हेल मछली पर रिसर्च कर रहे थे, और अब उस मछली के अकेलेपन की वजह खोज ली गई है।ये मछली बाकी मछलियों की तरह नहीं है।बाकी मछलियों की तरह इस मछली का न तो कोई दोस्त है ना ही परिवार, और ना ही कोई ग्रुप।प्रजनन करने के लिए इसका कोई साथी भी नहीं हैं। इस मछली की आवाज भी बाकी के बलीन व्हेल से काफ़ी अलग है।अलग होने के बाजूद इसकी आवाज़ अद्वितीय है।बाकी की व्हेल मछलियां जहां,12hz से 25hz की आवाज़ निकालती हैं , वहीं यह व्हेल 52hz की आवाज़ निकालती है।यहीं इस मछली की सबसे बड़ी परेशानी है, क्योंकि 52hz की आवाज़ को बाकी की व्हेल सुन ही नहीं पाती, इसिलिए इस व्हेल की कोई दोस्त नहीं है। इस मछली की हर आवाज़ इसके ग्रुप द्वारा अनसुनी कर दी जाती है। ये मछली आज भी समुद्र में अकेले तैरती और खुद से बातें करती हुई नजर आती है।

इसे भी पढ़िए :  क्या हो गया है इंसानों को, व्हेल के साथ ऐसी दरिंदगी !

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY