Wednesday 19th of December 2018
इंडिया टीवी
136-Part-1

इंडिया टीवी

cobrapost |
March 26, 2018

जितेन्द्र कुमार, डिप्टी वाइस प्रेजिडेंट(सेल्स); गौरव त्यागी, मैनेजर (एड सेल्स); सुदीप्तो चौधरी, Executive President Sales, इंडिया टीवी, नोएडा


देश के टॉप-5 न्यूज़ चैनल की सूची में शुमार इंडिया टीवी के करोड़ों दर्शक हैं। चैनल के मालिक रजत शर्मा ने साल 2004 में इस न्यूज़ चैनल की नींव रखी। पत्रकार पुष्प शर्मा की तहकीकात में सामने आया कि इंडिया टीवी में मार्किटिंग डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारी पैसे के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। सबसे पहले पुष्प की मीटिंग जितेन्द्र कुमार से हुई जो चैनल में डिप्टी वाईस प्रेजिडेंट (सेल्स) के पद पर तैनात हैं। इस मीटिंग में जितेन्द्र के साथ मौजूद थे मैनेजर (एड सेल्स) गौरव त्यागी। पुष्प ने इन दोनों को अपना एजेंडा बताया तो जितेन्द्र ने कहा, ये पॉलिटिकल जाएगा जो आप कह रहे हो ना हिंदुत्व पॉलिटिकल आ जाता है कनेक्शन... हमारे यहां नहीं है पर वो देखते हैं पॉलिटिकल की तरह है ना लोग कि हिंदुत्व को कि इंडिया टीवी चला रहा है हिंदू टीवी समझ रहे होहमारे प्रपोजल पर उत्सुकता दिखाते हुए आगे जितेन्द्र ने कहा कि सर इसमें हमें आपकी एक सपोर्ट चाहिए..ये चाहिए कि आप तीन महीने में जो तीन की बात कर रहे हैं उसमें डेढ़ महीने में डेढ़ करोड़ जो भी है वो हमें बिलिंग उसकी मार्च में चाहिए होगी ऐसा करने के पीछे जितेन्द्र ने वजह बताई कि टारगेट का प्रेशर तो वो एक टारगेट वगैरह का प्रेशर रहता है  जितेन्द्र के सहयोगी गौरव त्यागी ने हमारे एजेंडे के लिए इंडिया टीवी को बेस्ट प्लेटफॉर्म बताया और कहा, हर चीज़ को करने के लिए right medium  भी select करना भी उतना ही ज्यादा जरूरी है उधर जितेन्द्र ने भी गौरव की बात पर सहमति जताते हुए कहा, “India TV is a right platform”। अपने चैनल की बढ़ चढ़कर ब्रांडिंग में लगे गौरव ने कहा, ये आपकी जो requirement है वो आपकी जो आप करना चाहते हैं.. वो इंडिया टीवी में ही मिलेगी

जैसे पुष्प ने इन दोनों को अपने हिंदुत्व वाले एजेंड के बारे में बताया और 2019 के आगामी आम चुनाव के लिए इनसे अदद माहौल बनाने के लिए मदद मांगी जितेन्द्र और गौरव दोनों ने ही कहा, ये आएगा religion प्रमोशन में” “इसमें बहुत issue आएंगे बहुत..talk of the town बनेगा but issue बहुत आएंगे. तभी मैं कह रहा हूं पॉलिटिकल में आ जाएगा ये indirectly और directly  आ जाएगा ये और बाद में पुष्प को आश्वासन देते हुए कहा,कोई दिक्कत नहीं  जितेन्द्र इस डील को direct करना चाहते थे उन्होंने कहा, ये डील ना हम लोग direct करना चाहेंगे .. कोई दिक्कत तो नहीं है पुष्प ने कहा कि आप चाहे डील अपने हिसाब से कर लो लेकिन हिंदुत्व के एजेंडे पर कोई समझौता नहीं होना चाहिए। इस बात पर जितेन्द्र ने कहा,  Done  है  Sir done है  बोल दिया तो बोल दियाबिलिंग हम अपने according करेंगे थोड़ा टारगेट का ...बातचीत में आगे जितेन्द्र ने पुष्प से वादा किया कि वो उनकी मुलाकात चैनल के मालिक रजत शर्मा से भी कराएंगे, आपको मिलवाएंगे रजत जी से उनके ऑफिस में बढ़िया तरीके से

हिंदुत्व के बाद पुष्प ने इन दोनों से अपने अभियान के दूसरे चरण के बारे में चर्चा की और कहा कि हम अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदियों का नाम बिगाड़कर उनपर हमला करेंगे। पप्पू जैसे नाम से उनका चरित्र हरण करेंगे। इसपर जितेन्द्र ने कहा कि लगे कि 2019 तक के लिए जा रहे हैं पुष्प ने इन से कहा कि अब आप मुझे एक प्रपोजल तैयार करके दें कि कैसे आप मेरे अभियान को अपने चैनल पर चलाएंगे इस पर जितेन्द्र ने कहा, "आज मैं आपको शाम तक दे दूंगा" । अब बात शुरू हुई पैसे के लेन-देन की, पुष्प ने कहा कि मैं इस डील के लिए फंड तभी दूंगा जब मेरी आपके चैनल के मालिक रजत शर्मा से मुलाकात हो जाएगी, जितेन्द्र ने इस पर कहा, सर वो directly कभी नहीं कहेंगे, वो कहेंगे हम आपके साथ हैं बस

इसके बाद पुष्प की मुलाकात हुई इंडिया टीवी के Executive President Sales सुदीप्तो चौधरी से, पुष्प को यकीन था कि उनकी टीम पहले से ही उन्हें इस अभियान के बारे में बता चुकी है। बातचीत के दौरान सुदीप्तो ने पुष्प से कहा कि हम लोगों की मीटिंग में internally बात हुई तो वो जो कमर्शियल है उसमें हल्का सा changes करने पड़ेंगे।  जब पुष्प ने इसकी वजह पूछी तो सुदीप्तो ने कहा कि ये एक बहुत धार्मिक मामला है ऐसे में हमारी लीगल टीम ने हमें ऐसा कंटेंट चलाने से मना किया है। उन्होंने कहा कि अगर हम ऐसा करते हैं तो बाकी घर्मों के लोग भी हमारे पास आकर उनके धर्मों के कंटेट चलाने की सिफारिश करेंगे। हालांकि चौधरी किसी भी कीमत पर इस कैंपेन को खोना नहीं चाहते थे लिहाजा वो पुष्प को disclaimer के बारे में समझाने लगे और बोले, एक disclaimer तो चला सकते हैं ना, disclaimer क्यों नहीं चला सकते हैं मैं बोल रहा हूं नाआखिर में उन्होंने ये भी कहा कि तो  I am saying कि  let it look like a proper. ये है न  last में रहेगा कि  you please call up so and so number and for to avail Geeta or books or log onto web site … खत्म करो तो  that is all I am asking.” सुदीप्तो चौधरी  ने डील पक्की करने में उत्सुकता दिखाते हुए कहा, अभी हम क्या करेंगे डील को structure कर लेते हैं letter head हमारे साथ हैं तो अभी print out भी लेते हैं, print out ले के आपसे साइन करा लेते हैं.. ठीक है हमें half an hour and 40 minutes दीजिए, हम लोग डील structure कर लेते हैं

इसके बाद सुदीप्तो चौधरी बकायदा एक डील तैयार कर पुष्प से दोबारा मिले, चौधरी ने अभियान के पहले चरण के लिए 16 करोड़ रुपये की पेशकश की। चौधरी ने बताया कि अगर आप हमारे साथ तीनों चरण की डील पक्की करते हैं तो इसके लिए आपको 48 करोड़ रूपये देने होंगे।

चौधरी फैसले लेने के मामले में काफी तेज़ हैं लिहाजा उन्होंने पुष्प से मिलने से पहले ही इस अभियान को लेकर चैनल की co-owner  रितु धवन से भी इज़ाजत ले ली थी। उन्होंने कहा, इसलिए कल जब हमारी बात हो रही थी हम लोगों से फोन पर.. आपसे बात किया हम लोगों ने सोचा देखो आप इतने बिजी हो आप गुवाहाटी, कोलकाता या फिर नागपुर जाओगे जो भी ऐसे हम expect करेंगे मेल भेज के अपना आराम से बैठे रहेंगे तो वो initiative नहीं होता है, let us take initiative और उसी वक्त हम ने बैठ के अपने पैसे से ticket कराई बॉस को मेल लिख दिया कि बॉस ओके.. जो भी लिखा-पढ़ी वाला काम है ना कागज वाला, she said ok ”

पुष्प ने एक बार फिर इस टीम से जानने की कोशिश की क्या वो उनका कट्टर हिंदुत्व का agenda चलाने के लिए राजी हैं। इस पर चौधरी ने सहमति जताते हुए कहा कि promote करेंगे ना हमने ये किया promote किया इसी बीच जितेन्द्र कहने लगे हमने अलग से कोई पैसा charge नहीं किया जो उसी में.. चौधरी ने समझाते हुए कहा, जो बेसिक रेट है उसी में चार्ज किया और उसमें पूरा साल के लिए क्या किया, everyday आपका 30 सेकेंड तक का 10 advertisement  चलेगा वो अच्छे से कर के हम आपको भेज देंगे आपको अच्छा पसंद भी आएगाइसके बाद पुष्प ने इनके सामने एक और शर्त रखी, और कहा कि आप जब पप्पू के ऊपर जिंगल चलाएंगे तो इस में राष्ट्रगान का इस्तेमाल करें ताकी दर्शकों पर एक संदेश जाए कि हम कितने बड़े देशभक्त हैं इस पर भी चौधरी एका-एक तैयार हो गए और इसके लिए इन्होंने हमें लीगल तरीका भी बताया, इन्होंने कहा, इसका legal तरीका भी है अगर मान लो एक लैटर आ जाए मेल आ जाएगा संगठन की तरफ से या भगवद गीता प्रचार समिति कि भाई we identify you कुछ प्रॉबलम होगा हम withdraw कर लेंगे। ये सारी बातें सामने आने के बाद पुष्प ने इन्हें हर तरह की मदद का भरोसा दिया और वहां से चल दिए.. अब इंडिया टीवी जैसे बड़े और नामी न्यूज़ चैनल की हकीकत भी आपके सामने है।

पुष्प की इंडिया टीवी के Deputy Vice President–Sales, Jitender Kumar से फोन पर भी बातचीत हुई जिसमें पुष्प जितेंद्र से मेनका गांधी, वरुण गांधी, मनोज सिन्हा और जयंत सिन्हा के अलावा गठबंधन की अनुप्रिया पटेल, उपेंद्र कुशवाह और ओमप्रकाश राजभर के खिलाफ़ ख़बर चलाने के लिए बोलते है जिस पर जितेंद्र कहते है, “ok, समझ गए मतलब जो मिले उसको कर दो मतलब दबाये न उसको। To see reactions of concerned person click here


If you like the story and if you wish more such stories, support our effort Make a donation.



Loading...

If you believe investigative journalism is essential to making democracy functional and accountable support us. »