Monday 17th of December 2018
SWARAJ EXPRESS: आपको सिर्फ एक इशारा करना है पूरी तरह बोलनी भी नहीं है बात हम समझ जाएंगे वो चलेगा पूरा
एक्सक्लूसिव

SWARAJ EXPRESS: आपको सिर्फ एक इशारा करना है पूरी तरह बोलनी भी नहीं है बात हम समझ जाएंगे वो चलेगा पूरा

कोबरापोस्ट |
May 25, 2018

राजन शर्मा,“कोबरापोस्ट manage हो जाएगा wire के साथ थोड़ी दिक्कत कि funding भी अब धीरे धीरे दूसरी जगह से आ रही है”


राजन शर्मा, जीएम (मार्केटिंग) स्वराज एक्सप्रेस न्यूज़ चैनल, मध्य प्रदेश

स्वराज एक्सप्रेस न्यूज़ चैनल के बारे में ज्यादा जानकारी सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध नहीं है, लेकिन स्वराज एक्सप्रेस चैनल मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा दर्शकों का दावा करता है। इसके अलावा दावा ये भी है कि उनका वेब पोर्टल सबसे अच्छा है और वेबसाइट को सबसे ज्यादा देखा जाता है। स्वराज एक्सप्रेस चैनल सच्चाई और समय के साथ खबरें दिखाने का भी दावा करता है। हालांकि, पुष्प शर्मा के साथ चैनल के GM राजन शर्मा के साथ हुई छोटी सी मुलाकात में ये बात साफ हो गई कि इस चैनल के पास सिर्फ दावों के अलावा और कुछ भी नहीं है। दिलचस्प बात यह है कि राजन ने दावा किया कि उनकी वफादारी हिंदुत्व के साथ है। वो न केवल हिंदुत्व का एजेंडा चलाने के लिए सहमत हुए बल्कि न्यूज पोर्टलों के खिलाफ एक दुर्भावनापूर्ण अभियान चलाने के लिए भी सहमत हुए। जैसे स्क्रॉल, द वायर और कोबरापोस्ट के खिलाफ एक अपमानजनक प्रस्ताव को चलाने के लिए भी इन्होंने सहमति जताई।

 

जब पत्रकार अपने एजेंडा के लिए शर्मा से संपादकीय समर्थन चाहते हैं, तो राजन इन शब्दों में अपने ग्राहक को आश्वस्त करते हैं “बाकी के जो editorial की बात है वो जैसा क्योंकि हम लोग एक तो आर्थिक रूप से जुड़े हैं आर्थिक ज्यादा होता है कि मानसिक और वैचारिक रूप से ज्यादा जुड़े..तो उससे ज्यादा तो उसमें तो आपको किसी भी तरह की कोई चिंता या किसी तरह का संदेह या किसी भी तरह की कोई जरूरत ही नहीं है आपको सिर्फ एक इशारा करना है पूरी तरह बोलनी भी नहीं है बात हम समझ जाएंगे वो चलेगा पूरा

 

अब पुष्प राजन शर्मा से कहते हैं कि वो उनके अभियान के कुछ खास बिंदू लिख लें... नोटपैड में नहीं अपने मोबाइल में अच्छे से फीड कर लें। पुष्प इन्हें बताते हैं कि हाल ही में उत्तर प्रदेश में संसदीय उपचुनाव में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था, क्योंकि मेनका गांधी चाहती हैं कि उनका बेटा वरुण गांधी यूपी का मुख्यमंत्री बने। इनकी वजह से पार्टी को नुकसान उठाना पड़ा। लिहाजा वो चाहते हैं कि चैनल मेनका के खिलाफ स्टोरी चलाए। पुष्प इनसे से भी कहते हैं कि उनके पास वरुण गांधी की सेक्स सीडी है। नागपुर से आदेश मिलने पर उन्हें वरुण गांधी की सेक्स सीडी अपने चैनल पर प्रसारित करनी होगी। इसपर सहमति जताते हुए राजन शर्मा कहते हैं कि  हां हां बिल्कुल... हां हां वो तो खबर होती है खबर तो कभी भी चलाई जा सकती है  पुष्प इनसे कहते हैं कि आपके पास हर वक्त कंटेंट तैयार रहना चाहिए। जैसे किसान आदोलन है, किसानों के आंदोलन को माओवादियों से जोड़कर दिखाएं। आप देखते हैं कि इस देश के किसान बहुत अज्ञानी हैं। वे सरकारी नीतियों के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं। तो, अगर उन्हें माओवादियों की मदद नहीं मिल रही होती तो क्या वे इतने बड़े आंदोलन को व्यवस्थित करने में सक्षम थे? सरकार के खिलाफ उन्हें बढ़ावा देने में कांग्रेस का भी हाथ हो सकता है। पुष्प की बात पर हामी भरते हुए राजन कहते हैं कि  “हां सही बात जैसे अभी वो मार्च में हुआ था तो उसमें जो पूरा calculation है कि आर्थिक रूप से इतनी funding हुई कहां से कैसे पहुंचते हैं जो बेचारे आर्थिक रूप से इतने सफल नहीं हैं उनके पास इतना आर्थिक...

 

पुष्प राजन से कहते है कि देखिए क्या कांग्रेस पार्टी का इनपर हाथ है, अगर है तो  आपको उस पर प्रकाश डालना चाहिए और यदि उनका माओवादी कनेक्शन है तो इसे भी प्रकाश में लेकर आइए।

कांग्रेस समर्थन पर "हूं" के साथ जवाब देते हुए, राजन शर्मा ने अनुमान लगाया कि माओवादियों के बिना इस तरह के एक विशाल आंदोलन को व्यवस्थित करना संभव नहीं है। आगे सुनिए राजन क्या कहते हैं नहीं उसके बिना तो आचार्य जी संभव नहीं है इतना बड़ा... इतना बड़ा संगठित रूप से इतना बड़ा कोई भी आंदोलन करना.. संभव नहीं है

आप अंदाजा लगा सकते हैं कि जब हमारे पास स्वराज एक्सप्रेस जैसे चैनल हैं, तो कोई आश्चर्य नहीं कि आंदोलन करने वाले गरीब किसानों को राष्ट्रीय मीडिया के कुछ हिस्सों में माओवादियों के रूप में ब्रांडेड किया गया था।

अब यहां पर इन दोनों के बीच चल रही बातचीत में एक दिलचस्प मोड़ आता है। अब पुष्प इनसे कहते हैं कि ‘द स्क्रॉल’, ‘द वायर’ और ‘कोबरापोस्ट’ जैसे कुछ समाचार पोर्टल हैं जो सरकार के विपरीत कहानियां चलाते हैं। पुष्प कहते है कि ऐसे पोर्टल को नुकसान पहुंचाने के लिए क्या करना चाहिए। अपने ग्राहक पुष्प से मिलने वाले इस अपमानजनक असाइनमेंट को लेकर राजन खुश होते हैं और कहते हैं कि “इसका हम प्लान बना के देते हैं  पुष्प राजन को एक सुझाव देते हुए कहते हैं कि क्या आप सभी तीनों पोर्टल खरीद सकते हैं, इसके लिए हम आपको पैसा भी देंगे। उन्हें खरीदकर फिर हम उन्हें नष्ट कर सकते हैं। शर्मनाक बात ये है कि राजन इस काम को करने के लिए भी तैयार हो जाते हैं और कहते हैं कि उसका मैं आपको एक प्लान बनाकर के मैं आपको देता हूं next meeting में जब बैठेंगे.. तो उसपे फिर जैसा आपका आदेश होगा उसके बाद के प्लान बनाता हूं उनके लिए.. हां हां समझ गया मैं पूरा समझ गया

राजन इस काम को पूरा करने के लिए इतने आश्वस्त हो जाते हैं कि पुष्प को कहते हैं कोबरापोस्ट manage हो जाएगा wire के साथ थोड़ी दिक्कत कि funding भी अब धीरे धीरे दूसरी जगह से आ रही है अब ..कोबरा की नहीं है कोबरा manageable है वो एक plan बनाते हैं धीरे धीरे जैसे आगे बढ़ेंगे जैसे फिर आपका निर्देष होगा निर्देष के अनुसार उसको आगे बढ़ाएंगे

राजन कहते है कि क्या आपने कभी सोचा है कि अरुण जेटली की बेटी को Indian Hockye Association ने क्यों नियुक्त किया? क्यों लवित मोदी को देश से बाहर जाने की इजाजत मिली? आगे राजन कहते है कि तो इनमें से हम आचार्य जी दुश्मनों का इस्तेमाल कर लेते हैं आप documents हमें provide करा देना Wire, Cobra इनको पहले चलवाते हैं फिर उसके बाद

राजन इस मुद्दे को बताने की कोशिश करते हैं इसीबाच पत्रकार फिर से उनका ध्यान जेटली पर बदल देते हैं। पुष्प कहते हैं कि संगठन किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कहानियों को चलाने के लिए आदेश जारी कर सकता है भले ही वह जेटली ही क्यों ना हो और आपको ऐसा करना होगा। इसपर राजन कहते हैं कि आचार्य जी हमारा उद्देश्य है जी हमारा मुख्य उद्देश्य उस उद्देश्य तक पहुंचना है जैसे आपने बताया

पुष्प इनसे कहते हैं कि जेटली, मेनका गांधी और उनके बेटे वरुण के अलावा, आपको मनोज सिन्हा को भी लपेटना होगा जो यूपी मुख्यमंत्री बनने की महत्वाकांक्षाओं को पालकर बैठे हैं। इसपर राजन कहते हैं कि हां हां हां । यूपी की कैराना सीट पर उपचुनाव होने हैं। क्योंकि पीछले साल इस संसदीय सीट से जीतने वाले हुकम सिंह का निधन हो गया था। यूपी की राजनीति में बारीकी से दिलचस्पी लेने वाले राजन शर्मा कहते हैं कि हुकुम सिंह वाली सीट वहां पे बी पूरा एक गोलबंदी की... जबरदस्त जरूरत है  पुष्प कहते है कि बिल्कुल ठीक कहा आपने, हमें चारों तरह हिंदू वोटों का ध्रुवीकरण करना है। इसपर राजन कहते हैं कि हां पश्चिमी उत्तर प्रदेश का मामला है otherwise …”

आगे पुष्प इनसे कहते है कि हालांकि आधार स्कीम आम आदमी के लिए जी का जंजाल बन गई है। ये हाल हो गया है कि श्मशान में जलाने के लिए जगह बुक कराने पर भी अब मरने वाले से पूछा जाएगा कि क्या आपके पास आधार कार्ड है। पुष्प राजन से कहते हैं कि भले ही आधार से लोगों को लाख परेशानी हो लेकिन आप सरकारी की इस स्कीम की अपनी स्टोरी में प्रशंसा करें और इस योजना को देश के हित में होने के बात कहें। पुष्प की बात पर रजामंदी जताते हुए राजन कहते हैं कि “ठीक है”।

अपनी पुरानी मांग पर दोबारा बात करते हुए पुष्प राजन से उन ऑडियो टेप को चलाने के लिए कहते हैं जहां मेनका गांधी को गलत भाषा का उपयोग करते  पकड़ा गया है। राजन सहमत होकर कहते हैं कि वो हमें provide कराइए material और बाकी तो खबरें चलाई जा सकती हैं material आके तो खबरें कभी भी चल सकती हैं.. उसमें कोई दिक्कत नहीं है

पुष्प की हर एक मांग को पूरा करने के लिए तैयार बैठे राजन अपनी विचारधारा के बारे में बताते हुए कहते हैं कि “तो आचार्य जी आप हमारी तरफ से बिल्कुल भी हल्का सा भी ये चैनल आपका है... वैचारिक रूप से तो हम आपके हैं ही हैं पुष्प को आश्वासन देते हुए ये कहते हैं कि  सर सीधी सी बात है चैनल अपने घर का है चैनल हमारा है खत्म कहानी पुष्प इनसे फिर कहते हैं कि मुझे आपसे उम्मीद है कि आप मेरे अभियान को दिल से चलाएंगे। ये कहते हैं कि हां हां बिल्कुल एकदम बिंदास बोल के आगे वो कहते हैं कि “तो इसमें अभी कैसे रहेगा कैश भी रहेगा पुष्प इन्हें बताते हैं कि 80 लाख रुपये वो इन्हें चैक से देंगे जबकि बाकी का एक करोड़ कैश में दिया जाएगा। यहां हम आपको बता दें कि स्वराज एक्सप्रेस के साथ पुष्प की 1 करोड़ 80 लाख में डील तय हुई थी।

आप खुद देख सकते हैं कि ये काला सच है स्वराज एक्सप्रेस चैनल का।


If you like the story and if you wish more such stories, support our effort Make a donation.



Loading...

If you believe investigative journalism is essential to making democracy functional and accountable support us. »