Sunday 28th of February 2021
क्या है कोयला घोटाला, जिसने चुनाव से पहले बंगाल की सियासत में ला दिया बड़ा उबाल
राष्ट्रीय

क्या है कोयला घोटाला, जिसने चुनाव से पहले बंगाल की सियासत में ला दिया बड़ा उबाल

Newsdesk |
February 22, 2021

{पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनावों से पहले वहां की राजनीति में कोयला घोटाला एक नया सियासी बवंडर लेकर आया है. केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने रविवार (21 फरवरी) को राज्य में कोयला चोरी और अवैध कोयला खनन के मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और TMC सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी को समन जारी किया है. सीबीआई ने अभिषेक बनर्जी की साली मेनका गंभीर को भी पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है. अभिषेक बनर्जी ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है कि उन्हें आज (21 फरवरी) दोपहर 3 बजे सीबीआई के सामने पेश होने को कहा गया था. हालांकि, वो पेश नहीं हो सकीं. मेनका गंभीर को सोमवार को पेश होने को कहा गया है.}



22 फ़रवरी 2021 नई दिल्ली

पिछले साल 27 नवंबर को सीबीआई की कोलकाता एंटी करप्शन ब्रांच (ACB) ने पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (ECL) के लीजहोल्ड एरिया से कोयले के अवैध खनन और उठाव के संबंध में भ्रष्टाचार और आपराधिक विश्वासघात का मामला दर्ज किया था. ECL सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम कोल इंडिया लिमिटेड (CIL) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है, जो पश्चिम बंगाल और झारखंड में कोयला खनन करती है. दरअसल, यह मामला पिछले साल मई-अगस्त से जुड़ा है, जब सतर्कता विभाग और ईसीएल टास्क फोर्स ने निरीक्षण के दौरान पाया था कि ईसीएल के पट्टे क्षेत्र में व्यापक रूप से अवैध कोयला खनन और उसकी ढुलाई हो रही है. टीम ने तब पाया था कि अवैध कोयला खनन में कई मशीनें लगी हैं और ढुलाई के लिए भी वहां बड़ी संख्या में गाड़ियां खड़ी हैं. टीम ने तब बड़े पैमाने पर कोयले की जब्ती की थी. उस इलाके में कई अवैध भार मापक मशीनें भी लगी हुई थीं. इससे साफ पता चल रहा था कि अवैध खनन और कोयले ढुलाई का काम संगठित तौर पर संचालित हो रहा है.

Source - NDTV

Read More >>


If you like the story and if you wish more such stories, support our effort Make a donation.




Loading...

If you believe investigative journalism is essential to making democracy functional and accountable support us. »