फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों नहीं थे टारगेट : पेगासस स्पाईवेयर बनाने वाली कंपनी NSO का बयान
राष्ट्रीय

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों नहीं थे टारगेट : पेगासस स्पाईवेयर बनाने वाली कंपनी NSO का बयान

Newsdesk |
July 22, 2021

{इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ के एक अधिकारी ने बुधवार को कहा कि विवादास्पद पेगासस स्पाइवेयर टूल का इस्तेमाल फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को निशाना बनाने के लिए नहीं किया गया था. दरअसल आईआरएसएफ (रिपोर्ट्स विदाउट बॉर्डर्स) ने जासूसी मामले में विवाद के बाद इजराइल से इस तकनीक के निर्यात को निलंबित करने का आग्रह किया है, जिसमें मैक्रॉन, पत्रकारों और कार्यकर्ताओं सहित कई शिकार हुए. इसी के बाद इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी ने बयान दिया. एनएसओ ग्रुप के अधिकारी चैम गेलफैंड ने आई24 न्यूज टेलीविजन नेटवर्क को बताया कि फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रोन इसका टारगेट नहीं थे.}



22 जुलाई 2021 नईदिल्ली

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक,बता दें कि इससे पहले खबर आई थी कि  फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और उनकी सरकार के शीर्ष सदस्यों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले फोन नंबर स्पाईवेयर पेगासस के संभावित टारगेट में शामिल थे. पेगासस के संभावित टारगेट नंबरों की सूची लीक करने वाले एनजीओ ने मंगलवार को यह बात कही थी.फॉरबिडेन स्टोरीज के प्रमुख लॉरेंट रिचर्ड ने LCI टेलीविजन से कहा, "हमें ये नंबर मिले लेकिन हम स्पष्ट रूप से इमैनुएल मैक्रों के फोन का तकनीकी विश्लेषण नहीं कर सके कि कि क्या यह मैलवेयर से संक्रमित था.' उन्होंने कहा कि 'यह दिखाता है कि ऐसा करने में किसी की रुचि थी'.मैक्रों के कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा, "यदि यह तथ्य साबित हो जाता है, तो यह स्पष्ट रूप से बहुत गंभीर है."

Source -NDTV

Read More >>


If you like the story and if you wish more such stories, support our effort Make a donation.




Loading...

If you believe investigative journalism is essential to making democracy functional and accountable support us. »