राष्ट्रीय ट्विटर पर भिड़ी स्मृति ईरानी और प्रियंका चतुर्वेदी

ट्विटर पर भिड़ी स्मृति ईरानी और प्रियंका चतुर्वेदी

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी आज ट्विटर पर भिड़ गई। दरअसल अपने एक टवीट में, कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने किसी दूसरे व्यक्ति से बात करते हुए स्मति ईरानी का जिक्र किया था और कहा था


By Cobrapost.com - June 17, 2016

क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें.

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी आज ट्विटर पर भिड़ गई। दरअसल अपने एक टवीट में, कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने किसी दूसरे व्यक्ति से बात करते हुए स्मति ईरानी का जिक्र किया था और कहा था, स्मृति ईरानी की जिंदगी पर कथित खतरे से उन्हें जेड सुरक्षा मिल जाती है और यहां मैं बलात्कार और मौत की धमकियों की जांच तक करवाने के लिए जूझ रही हूं।

दैनिक हिंदुस्तान के मुताबिक प्रियंका चतुर्वेदी के इस ट्वीट का स्मृति ईरानी ने फौरन जवाब देकर प्रियंका को बताया कि उनके पास जेड श्रेणी की सुरक्षा नहीं है। इस पर प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि वह गृह मंत्रालय के अंदरूनी कामकाज को नहीं जानतीं और उन्होंने अखबारों में छपी खबरों के हिसाब से यह बात कही। प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया, तो क्या मैं मानूं कि कोई सुरक्षा नहीं है स्मति ईरानी? स्मृति ने जवाब में एक सवाल पूछते हुए कहा, आप मेरी सुरक्षा में इतनी दिलचस्पी क्यों ले रही हैं कोई योजना बना रही हैं क्या?

कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने भी जवाब में तंज कसते हुए कहा, मेरे पास इतना फालतू समय नहीं। इसलिए इस बात की आप चिंता मत करिए स्मृति ईरानी। आपको किसी और परिसर में हंगामा पैदा करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

स्मृति ईरानी ने जवाबी हमले में कहा, यह राहुल जी की विशिष्टता है। अरे रूकिए, असम में हुई हार भी। मेरा दिन तो खराब रहा। आपका दिन अच्छा रहे। इस पर प्रियंका ने भी जवाब में एक और तंज कसा। उन्होंने लिखा, बार-बार हारना और फिर भी मंत्रिमंडल में मंत्री बन जाना आपकी विशिष्ट योग्यता है। आपका भी दिन शानदार रहे स्मृति ईरानी।


क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें.

Tag : ,

Loading...

चर्चित खबरें

एक्सक्लूसिव