अंतरिक्ष में भारत का एक और कदम, इसरो के PSLV C-35 सैटेलाइट ने भरी उड़ान

0
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

सोमवार का दिन बेंगलुरु की पीईएस यूनिवर्सिटी के 250 छात्रों के लिए कुछ ज्यादा ही खास है। सुबह 9:12 पर जब श्रीहरिकोटा से पोलर सैटेलाइट लॉन्च वीइकल सी-35 (पीएसएलवी-35) प्रक्षेपित किया गया तब इन 250 छात्रों की मेहनत और सपनों ने भी अंतरिक्ष की उड़ान भरी।

इसे भी पढ़िए :  इस प्राचीनतम मानव सभ्यता का नाम बदलना चाहती है हरियाणा की बीजेपी सरकार

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का नया मिशन समुद्र और मौसम से जुड़ी जानकारी इकठ्ठा करेगा। इसके लिए SCATSAT-1 सैटलाइट प्रक्षेपित की गई। यह इसरो का पहला मल्टी ऑर्बिट लॉन्च है। इसके साथ ही पीईएस यूनिवर्सिटी (PESU) के छात्रों द्वारा बनाई गई नैनोसैटेलाइट PISAT भी अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरेगी। यह सैटेलाइट भारत पर नजर बनाए रखेगा और पृथ्वी की तस्वीरें खींच कर भेजेगा।

इसे भी पढ़िए :  भारत के मान सम्मान और स्वाभिमान पर किसी भी सूरत में आंच नहीं आने देंगे: राजनाथ

_91373352_scatsattobelaunchedseptember2016

riharikota – Visuals from the site: ISRO to launch PSLV’s longest flight SCATSAT-1 today for ocean, weather studies. pic.twitter.com/edGWeLw9xd

— ANI (@ANI_news) September 26, 2016

इसे भी पढ़िए :  बीमार मां का हाल जानने कोच्चि पहुंचा मदनी

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY