पाक पर जमकर बरसे मोदी, कहा- आतंकवाद के लिए केवल एक देश जिम्मेदार

0
फाइल फोटो।

नई दिल्ली। पाकिस्तान को सीधी चेतावनी देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार(24 सितंबर) को कहा कि भारत उरी आतंकी हमले को कभी भूलेगा नहीं, साथ ही पड़ोसी देश पर आतंक के निर्यात के जरिये पूरे एशिया में खूनखराबा करने की साजिश करने का आरोप लगाया।

रविवार को उरी में घातक आतंकी हमले के बाद पहली सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 18 सैनिकों की शहादत जाया नहीं जाएगा और पड़ोसी देश को वैश्विक स्तर पर अलग थलग करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक से इतर कोझिकोड समुद्र तट पर एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि आतंकवादी ध्यान से सुन लें कि भारत उरी हमले को कभी नहीं भूलेगा, मैं पाकिस्तान के नेतृत्व को बता देना चाहता हूं कि हमारे 18 सैनिकों की शहादत ज़ाया नहीं जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  बीजेपी विधायक ने सीधे मोदी को दी चेतावनी, पढ़कर आप भी हैरान रह जाएंगे

उन्होंने कहा कि एशिया के देश जहां 21वीं सदी को एशिया की सदी बनाने में जुटे हुए हैं, वहीं पाकिस्तान पूरे महाद्वीप में आतंकवाद प्रायोजित करके और निर्दोष लोगों की हत्या करके खूनखराबा करने की साजिश में लगा हुआ है।

भारत के अलावा अफगानिस्तान, बांग्लादेश में आतंकी घटनाओं के पीछे पाकिस्तान का हाथ होने पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया में जहां कहीं भी आतंकवाद की घटना होती है, आप पाएंगे कि या तो आतंकवादी वहां (पाकिस्तान से) से गए हैं अथवा ओसामा बिन लादेन की तरह वहां रहने आ गए हैं।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद के लिए प्रत्येक राष्ट्र केवल एक देश को जिम्मेदार बता रहा है। एशिया में केवल एक देश आतंकवादियों की पनाहगाह है। वह एकमात्र ऐसा देश है जो दुनियाभर में आतंक का निर्यात करने में लगा है। ’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि पड़ोसी देश से भेजे गए फिदायीन हमलावरों की ओर से 17 प्रयास किये गए जिसे हमारे बहादुर सैनिकों ने नाकाम कर दिया। हमारे बहादुर सैनिकों ने हाल के वर्षों में 110 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया।

इसे भी पढ़िए :  उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में अब पढ़ाया जाएगा जीएसटी का पाठ

उरी हमले को लेकर देशभर में आक्रोश का जिक्र करते हुए मोदी ने पड़ोसी देश के नेताओं पर आतंकवादियों की इबारत को पढ़ते का आरोप लगाया। उनका परोक्ष इशारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाषण की ओर था।

उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश के नेता आतंकवादियों की इबारत को पढ़ते हैं और कश्मीर का राग अलापते रहते हैं। आज मैं यहां से पाकिस्तान के लोगों से सीधे बात करना चाहता हूं। मैं उन्हें याद दिलाना चाहता हूं कि 1947 से पहले आपके पूर्वजों ने इस भूमि को सलाम किया था।

इसे भी पढ़िए :  गंगा कैसे हो साफ? 'नमामि गंगे' के लिए बजट आवंटन हुआ 2 हजार करोड़,खर्च हुआ सिर्फ 326 करोड़

प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के लोगों से कहा कि आपको अपने नेताओं से सार्वजनिक रूप से पूछना चाहिए कि पकिस्तान क्यों पीओके, पूर्ववर्ती बांग्लादेश के अलावा पख्तूनिस्तान, गिलगित, बलूचिस्तान को नहीं संभाल सका और कश्मीर की बात करके आपको गुमराह करने का प्रयास कर रहा है।

मोदी ने कहा कि पकिस्तान की जनता को अपने नेताओं से पूछना चाहिए कि एक साथ आजादी प्राप्त करने के बाद भी क्या कारण है कि भारत साफ्टवेयर का निर्यात कर रहा है और पाकिस्तान आतंकवाद का निर्यात कर रहा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY