अखिलेश ने खेला ब्राम्हण कार्ड, मायावती के वोट बैंक में सेंध लगाने की कोशिश

0
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse
उत्तर प्रदेश में चली सियासी उठापटक के बाद अखिलेश यादव ने सोमवार को मंत्रिमंडल विस्तार में ‘ब्राह्मण कार्ड’ चलकर । सरकार के आठवें मंत्रिमंडल विस्तार में अखिलेश ने कुल 10 लोगों को शपथ दिलाई, जिसमें तीन ब्राह्मण चेहरे शामिल थे। अखिलेश मंत्रिमंडल में गायत्री प्रसाद प्रजापति, शंखलाल मांझी, मनोज पांडेय, शिवकांत ओझा, रियाज अहमद, यासिर शाह, अभिषेक मिश्रा, जियादुद्दीन रिजवी, रविदास मेहरोत्रा और नरेंद्र वर्मा को शामिल किया गया है। इसके अलावा खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री पप्पू निषाद को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया गया है। शपथ ग्रहण समारोह में समाजवादी पार्टी चीफ मुलायम सिंह यादव और राज्य सभा सांसद शिवपाल यादव भी मौजूद थे।
समाजवादी पार्टी ने मायावती के ब्राह्मणों के बीच पैठ बढ़ाने की कोशिशों के मद्देनजर इस विस्तार से विधानसभा चुनाव से पहले जातीय संतुलन साधने की कोशिश की। इस विस्तार में ब्राह्मण चेहरों मनोज पांडेय और शिवकांत ओझा को कैबिनेट में शामिल किया गया, जबकि अभिषेक मिश्रा का कद बढ़ाकर उन्हें कैबिनेट में लाया गया। कांग्रेस और बीएसपी के बाद यह समाजवादी पार्टी की विधानसभा चुनावों के मद्देनजर ब्राह्मणों को अपनी ओर आकर्षित करने की बड़ी रणनीति है।
 अगली स्लाईड में देखिए अखिलेश सरकार में किसकी वापसी।
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

इसे भी पढ़िए :  जिस बंगले में कभी नेहरू, जेपी, लोहिया जैसी राजनीतिक हस्तियां रहती थी, आज वो बिकने के कगार पर है

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY