भारतीय सेना ने कुचला ड्रैगन का डंक, अरुणाचल बॉर्डर पर घुसपैठ कर रहे चीनी सैनिकों को खदेड़ा

0
घुसपैठ

आतंकवाद के मसले पर अंतराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की फजीहत के बाद, पड़ोसी मुल्क चीन के भी तेवर बदले-बदले नज़र आ रहे हैं। पाकिस्तान को खुल कर समर्थन देने वाले चीन ने भारत का ध्यान पाकिस्तान से हटाने के लिए एक मास्टर प्लान तैयार किया। पाकिस्तानी आतंकियों का उरी में सेना पर हमला करने का मामला अभी थमा भी नहीं था कि अरुणाचल प्रदेश में चीनी सेना की घुसपैठ की घटना सामने आई है। खबर के मुताबिक 9 सितंबर को चीनी सैनिक भारत की सीमा में न सिर्फ घुस आए थे बल्कि उन्होंने 45 किलोमीटर अंदर आकर प्लम इलाके में कैंप भी बना लिए थे। जिसके चार दिन बाद यानी 13 सितंबर को भारतीय सेना और आईटीबीपी ने इलाके में जॉइंट पेट्रोलिंग के दौरान उन्हें वहां से वापस खदेड़ दिया।

इसे भी पढ़िए :  मणिपुर में हालात बेकाबू, 350 रूपए हुआ पेट्रोल, 3000 रूपए में मिल रही है रसोई गैस

ऐसा पहली बार नहीं है जब चीनी सेना के द्वारा ऐसी हरकत की गई हो। इस संबंध में इंडिया टुडे ने खबर छापी है जिसमें उच्च स्तरीय सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल चांगलांग जिले से 94 किलोमीटर दूर है। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने सीमा पर स्थित हदीग्रह पास इलाके से घुसपैठ करके वहां से 45 किलोमीटर अंदर प्रवेश किया। चीनी सेना प्लम इलाके तक पहुंच गए और यहां अस्थाई कैंप का निर्माण किया।

इसे भी पढ़िए :  खुफिया एजेंसियों का दावा: दिवाली पर सर्जिकल स्ट्राइक का बदला लेगा पाकिस्तान, रच डाली ये साजिश

भारतीय सीमा में घुसपैठ और तनाव को रोकने के लिए 14 सितंबर को भारतीय सेना और पीएलए की फ्लैग मीटिंग रखी गई थी। ये बैठक चीन में हुई थी। सूत्रों ने बताया कि 1 अक्टूबर को एक और बैठक बुलाई गई है।

इसे भी पढ़िए :  नोटबंदी: 7 दिसंबर से 11 जनवरी के बीच जनधन खातों से 5000 करोड़ से अधिक की निकासी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY