‘होता है-चलता है’ रवैये के दिन अब लद गए: PM मोदी

0
फोटो: साभार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार(17 सितंबर) को कहा कि पूरी दुनिया भारत की ओर बेहद उम्मीदों के साथ देख रही है और देश ‘होता है-चलता है’ रवैये को अब और वहन नहीं कर सकता है। प्रधानमंत्री ने प्रशासन विभिन्न स्थितियों पर जिस तरीके से प्रतिक्रिया व्यक्त करता है उसमें व्यापक बदलाव लाने की आवश्यकता पर जोर दिया।

इसे भी पढ़िए :  मुंबई के इस युवक ने पकड़ी नरेन्द्र मोदी ऐप की 'बड़ी' खामियां

प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘‘कई बार हम अपनी आंखों के सामने चीजें होते देखते हैं, लेकिन हमारी प्रतिक्रिया बेहद चलताऊ या खराब रहती है। मेरा मानना है कि भारत जैसा देश इस तरह के रवैये को वहन नहीं कर सकता है। ‘होता है-चलता है-देखेंगे’ के दिन लद गए हैं, क्योंकि दुनिया हमें बेहद उम्मीदों के साथ देख रही है।’’

इसे भी पढ़िए :  तकनीकी खराबी के चलते चेन्नई जा रहा राष्ट्रपति का विमान दिल्ली लौटा

कार्यक्रम का आयोजन प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर दिव्यांग नागरिकों को वित्तीय सहायता बांटने और सहायक उपकरण बांटने के लिए किया गया था। मोदी ने इस तरह के शिविर में हिस्सा लेने वाला पहला प्रधानमंत्री बनने पर खुशी जताई और उन्हें आमंत्रित करने के लिए मंत्रियों का शुक्रिया अदा किया। प्रधानमंत्री ने रियो पैरालंपिक्स में चार पदक जीतने के लिए भी दिव्यांगों की तारीफ की।

इसे भी पढ़िए :  भारत और यूएई के बीच रणनीतिक साझेदारी सहित 14 अहम समझौते पर दस्तख्त

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY