सार्क सम्मेलन में हिस्सा न लेने पर रतन टाटा बोले- भारत के फैसले पर गर्व है

0
रतन टाटा

मशहूर उद्योगपति रतन टाटा ने सार्क सम्मेलन में भाग न लेने के भारत के फैसले का समर्थन किया है। सार्क सम्मेलन में भारत के हिस्सा न लेने के फैसले के बाद तीन अन्य देशों ने भी पाकिस्तान में होने वाले इस दक्षिण एशियाई देशों के सम्मेलन में शिरकत करने से इनकार कर दिया है। जिसके बाद यह सम्मेलन लगभग ‘रद्द’ माना जा रहा है।

इसे भी पढ़िए :  अनिल बैजल बने दिल्‍ली के नए उपराज्‍यपाल

ट्विटर पर कम ऐक्टिव रहने वाले रतन टाटा ने अपने हालिया ट्वीट में लिखा, ‘सार्क सम्मेलन को बॉयकाट करने के भारत सरकार के फैसले और अन्य सदस्य देशों से मिले समर्थन पर मुझे गर्व है।’ टाटा ग्रुप के चेयरमैन के इस ट्वीट पर लोगों का भारी समर्थन मिला। इस ट्वीट को 8000 लोगों ने पसंद किया वहीं इसे करीब 5000 बार रिट्वीट किया गया।

इसे भी पढ़िए :  शाबाश इंडिया, भारत ने विकसित किया कुष्ठ रोग का टीका

भारत के अलावा सार्क सम्मेलन से अफगानिस्तान, बांग्लादेश और भूटान ने भी दूरी बना ली। यह सम्मेलन नवंबर में होना तय था जिसका रद्द होना लगभग तय है लेकिन अभी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। भारत ने उड़ी हमले के बाद पाकिस्तान से बिगड़े संबंधों और बॉर्डर पार से बढ़ते हमलों का हवाला देते हुए बुधवार रात पाकिस्तान में होने सार्क सम्मेलन में हिस्सा न लेने का ऐलान किया था।

इसे भी पढ़िए :  RSS नेता ने फिर दिया विवादित बयान, कहा- 'वैलेंटाइन डे की वजह से होते हैं बलात्कार'

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY