सेना की भर्ती से कश्मीरी युवाओं को दूर रखे सरकार: VHP

0
फाइल फोटो।

नई दिल्ली। विहिप ने भारतीय सेना में और कश्मीरी युवाओं को शामिल करने के लिए सरकार के कदम को ‘‘निर्थक प्रयास’’ बताया और घाटी में ‘‘जिहादी’’ तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की।

कश्मीर में सेना के भर्ती अभियान का जिक्र करते हुए विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि शांति स्थापित करने के लिए ऐसे बहुत प्रयास हो गए। उन्होंने कहा कि सेना की भर्ती से उन्हें दूर रखा जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि कहीं की भी सरकार के पास किसी संगठन के खिलाफ कार्रवाई के लिए संसाधन होते हैं। हमें उम्मीद है कि भारत सरकार ‘‘जिहादी’’ तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी जो भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल हैं।

इसे भी पढ़िए :  गौरक्षा के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं: पीएम मोदी

उन्होंने कहा कि भारतीय सेना में भारत विरोधी ऐसी आवाजों को चुप कराने की क्षमता है, लेकिन उन्होंने आश्चर्य जताया कि क्या सरकार को ऐसी राजनीतिक इच्छाशक्ति को बढ़ावा देने की क्षमता है।

न्यूयार्क विस्फोटों पर अमेरिकी सांसद रॉन जॉनसन के विचारों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विहिप नेता ने कहा कि ‘‘अमेरिका अब जिहादी खतरों को समझने लगा है, उम्मीद है कि भारत सरकार जिहाद को एक खतरे के रूप में देखेगी।’’

इसे भी पढ़िए :  कश्मीर से 80 नौजवान गायब, आतंकी संगठनों में शामिल होने का शक, सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY