महाड़ पुल हादसा : आठ और शव बरामद, मृतकों की संख्या 22 हुई

0

दिल्ली
सावित्री नदी से आज आठ और शव बरामद किये जाने के साथ मृतकों की संख्या बढ़कर 22 हो गयी। रायगढ़ जिले के महाड़ के नजदीक अंग्रेजों के जमाने का एक पुल टूट जाने के बाद दो सरकारी बसों समेत कुछ निजी वाहन सावित्री नदी में बह गए थे।

रायगढ़ जिले के रेजीडेंट डिप्टी कलेक्टर सतीश बगल ने बताया, ‘‘नदी में विभिन्न जगहों से आठ और शवों को निकाला गया और मृतकों की संख्या 22 हो गयी है। इनमें से 17 पुरूषों और पांच महिलाओं के शव हैं।’’ उन्होंने कहा कि विभिन्न एजेंसियों और स्थानीय गोताखोरों की मदद से कल सुबह फिर तलाशी अभियान चलाया जाएगा। मुंबई-गोवा राजमार्ग पर महाड़ के नजदीक बना यह पुराना पुल मंगलवार की रात टूट गया था। यह स्थान मुंबई से 170 किलोमीटर के फासले पर है। रायगढ़ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय पाटिल ने बताया कि खोज अभियान में 20 नावें, तट रक्षक बल, राष्ट्रीय आपदा राहत बल और नौसेना के लगभग 160 जवान जुटे हुए हैं। जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय मछुआरों की भी मदद ली जा रही है।

इसे भी पढ़िए :  दिल्ली में सड़क के बीचो बीच स्कूली बस में घुसा जमा पानी , पुलिस ने जान पर खेल कर 70 बच्चों को बचाया

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने बताया कि कुछ शव दुर्घटनास्थल से 120 किमी दूर तक मिले।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने तलाश अभियान का दायरा बढ़ा दिया है। सावित्री नदी के किनारे रहने वाले स्थानीय लोगों को भी सूचित कर दिया है। उनसे कहा है कि पानी में कुछ भी दिखाई देने पर वे हमें तुरंत सूचित करें।’’ उन्होंने कहा कि लगातार हो रही बारिश के कारण खोज अभियान प्रभावित हो रहा है।

इसे भी पढ़िए :  जरूरी दस्तावेज देने पर ओवैसी की पार्टी को मान्यता मिल सकता है: महाराष्ट्र चुनाव आयोग

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कल कहा था कि सरकार हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को पांच लाख रूपए का मुआवजा देगी। सरकार पहले यह घोषणा कर चुकी है कि हादसे के शिकार सरकारी बसों के कर्मचारियों के परिजन को वह दस लाख र. या नौकरी देगी।

इसे भी पढ़िए :  लालू प्रसाद यादव ने कहा तेजस्वी यादव नहीं देंगे इस्तीफा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY