रामदास अठावले पाटीदार आंदोलन में कूदे, आर्थिक आधार पर आरक्षण की लगाई सिफारिश

0
अठावले
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

गुजरात में हुए पाटीदार समुदाय आरक्षण आंदोलन में हार्दिक पटेल ने मुख्य भूमिका निभाई थी। इसके बाद अब रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के नेता और केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास अठावले नें भी गुजरात में पाटीदार समुदाय की सरकार से शिक्षा और नौकरी में आरक्षण देने की मांग का समर्थन किया है।

रामदास अठावले ने बताया है कि आर्थिक रूप से पिछड़े सुमदायों को आरक्षण का लाभ देने के संविधान में संशोधन होना चाहिए। अठावले ने वडोदरा के संकल्प भूमि में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि गुजरात में पाटीदार समुदाय को आर्थिक आधार पर आरक्षण मिलना चाहिए क्योंकि इस समुदाय के भी सभी लोग आर्थिक रूप से सशक्त नहीं है। हमें भारत के संविधान में संशोधन कर हर समुदाय और जाति के ऐसे लोगों के लिए आरक्षण का लाभ सुनिश्चित करना चाहिए जो आर्थिक रूप से सक्षम नहीं है।
महाराष्ट्र की राजनीति में महत्वपूर्ण दलित नेता के तौर पर अपनी पहचान रखने वाले रामदास अठावले ने गुजरात के उना में दलितों के खिलाफ हुए अत्याचार पर बोलते हुए कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से इस मामले में मेरी बातचीत हुई है और उन्होंने मुझे आश्वस्त किया है कि राज्य में ऐसी घटना दोबारा नहीं होगी। उन्होंने उना मामले में आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का भी आश्वासन दिया है।
जिसके साथ रामदास आठवले ने यह भी कहा कि इस तरह के आरक्षण की मांग लगभग सभी राज्यों में उठ रही है। ऐसे में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को आरक्षण मिलना ही चाहिए। गौरतलब है कि रामदास अठावले महाराष्ट्र में मराठी समुदाय को शिक्षा और नौकरियों में आरक्षण देने की मांग का समर्थन करते रहें हैं।

इसे भी पढ़िए :  आज उना का दौरा करेंगी आनंदीबेन, कांग्रेस ने न्यायिक जांच की मांग की
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY