3 साल बाद रायबरेली में एक साथ चुनाव प्रचार करेंगे राहुल-प्रियंका, एक दीदार के लिए सड़कों पर उमड़ी भीड़

0
रायबरेली

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में गठबंधन के साथ उतर रही समाजवादी पार्टी तथा कांग्रेस के प्रचार अभियान को गति देने आज प्रियंका गांधी वाड्रा भी मैदान में उतर रही हैं। प्रियंका गांधी आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में चुनावी जनसभा करेंगी। तीन साल बाद यह पहला मौका है, जब दोनों एक साथ होंगे। इससे पहले दोनों ने 2014 में लोकसभा इलेक्शन के दौरान अमेठी में रोड शो किया था। बता दें कि यूपी इलेक्शन में कांग्रेस ने सपा के साथ अलायंस किया है। कांग्रेस 105 सीट पर चुनाव लड़ रही है। ऐसा कहा गया कि इस अलायंस को करने में राहुल के साथ प्रियंका की भी बड़ी भूमिका रही है।

इसे भी पढ़िए :  राजीव गांधी को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, जानकर हैरान रह जाएंगे आप

क्या रहेगा आज का प्रोग्राम ?

कांग्रेस के ट्विटर अकाउंट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, राहुल गांधी सबसे पहले 1.30 बजे फतेहपुर जिले के हाथगांव के कर्बला मैदान पर जनसभा करेंगे। इसके बाद करीब 3 बजे रायबरेली के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज ग्राउंड में रैली करेंगे। यहां उनके साथ प्रियंका भी मौजूद होंगी। तीसरा प्रोग्राम 4.30 बजे रायबरेली के ही महराजगंज के बाबुरिया ग्राउंड में होगा, जहां राहुल चुनावी सभा करेंगे। रायबरेली में चौथे फेज में 23 फरवरी को वोटिंग है। बता दें कि रायबरेली जिले में बछरावां, हरचंदपुर और सरेनी विधानसभा सीट हैं।

इसे भी पढ़िए :  मैं अखिलेश की उन्नति में बाधक नहीं: अमर सिंह

आपको बता दें कल रात करीब नौ बजे प्रियंका गांधी का कार्यक्रम तय हुआ, पहले सिर्फ राहुल गांधी की जनसभा के लिए कांग्रेस ने अनमुति ली थी। प्रियंका गांधी के आने की चर्चा थी लेकिन कांग्रेस पदाधिकारी भी कुछ भी बोलने को लेकर असमंजस की स्थिति में थे। रात 9.15 पुलिस अधीक्षक अब्दुल हमीद ने प्रियंका के आने की सूचना दी।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तीसरे दौर के मतदान के लिए चुनाव प्रचार का शोरगुल आज शाम थम जाएगा। 19 फरवरी यानी रविवार को 12 जिलों की 69 सीटों पर प्रचार का शोर आज शाम 5 बजे थम जाएगा। जहां वोट डाले जाने हैं। उनमें फर्रुखाबाद, हरदोई, कन्नौज, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर, उन्नाव, लखनऊ, बाराबंकी और सीतापुर ज़िले हैं। ये इलाक़े सपा के गढ़ माने जाते हैं। 2012 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में सपा ने इन 69 में से 55 सीटें जीती थीं। वहीं बीएसपी को छह और बीजेपी को पांच सीटें मिली थीं, जबकि कांग्रेस के खाते में सिर्फ़ दो सीटें आई थीं।

इसे भी पढ़िए :  आज उत्तर प्रदेश विधानसभा का पहला सत्र, ऐसे घेरेगा विपक्ष सीएम योगी आदित्यनाथ को

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY