लड़की के लिए मगरमच्छ से भिड़ गया, फिर भी टूटा दिल, जानिए कौन है ये बदकिस्मत आशिक

0
मगरमच्छ

मेलबर्न : कुछ लोग अपने ‘ख्वाबों की राजकुमारी’ का दिल जीतने के लिए किसी भी हद तक चले जाते हैं। 18 साल के ली दे पा ने तो इस चक्कर में मगरमच्छ का सामना कर लिया। ली मगरमच्छ से भरी नदी में कूद गए। ऐसा करके वह ब्रिटेन से वहां घूमने आई 24 साल की सोफी पीटरसन का दिल जीतना चाहते थे। ली भाग्यशाली रहे कि उनकी जान बच गई। मगरमच्छ ने उनकी बांह को अपने जबड़े में जकड़ लिया था, लेकिन ली ने उसके चेहरे पर घूंसा मारा। काफी जद्दोजहद के बाद ली अपनी जान बचाने में कामयाब रहे।

डेली मेल में छपी एक खबर के मुताबिक, ली के इतना कुछ करने पर भी सोफी प्रभावित नहीं हुईं। सोफी ने ली से कहा, ‘जानवरों द्वारा हमला करवाने से मैं प्रभावित नहीं होती।’ हुआ कुछ यूं था कि ब्रिटेन की रहने वाली सोफी ऑस्ट्रेलिया घूमने आई थीं। यहीं उनकी ली से मुलाकात हुई। रविवार सुबह जब ली और सोफी साथ बैठकर ड्रिंक कर रहे थे, उसी समय सोफी ने ली को चुनौती दी कि वह उत्तरी क्वींसलैंड में स्थित जॉनस्टोन नदी में कूदकर दिखाए। ली इसी नदी के पास रहते हैं। उन्होंने सोफी की चुनौती स्वीकार कर ली और नदी में कूद गए। नदी में एक विशालकाय मगरमच्छ ने उनपर हमला कर दिया। ली मगरमच्छ से अपनी जान बचाने में तो कामयाब हो गए, लेकिन वह काफी जख्मी हैं।

इसे भी पढ़िए :  पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आजादी के लिए निकली रैली

अस्पताल में भर्ती ली ने एक रेडियो शो को इस घटना के बारे में बताते हुए कहा, ‘चुनौती दिए जाने के बाद मैं नदी में कूद गया। फिर नदी से बाहर आने के लिए मैं तैरकर सीढ़ियों की ओर वापस आ रहा था। मैं नदी से बाहर निकलने ही वाला था कि एक मगरमच्छ ने मेरी बांह को जकड़ लिया। वह मगरमच्छ मुझे घसीटता हुआ अंदर नदी में ले गया और मुझे पानी में डुबाने की कोशिश करने लगा।’ ली ने आगे बताया, ‘मैं मगरमच्छ की नाक पर मारा, जिससे उसकी पकड़ कमजोर हो गई। फिर मैंने उसकी आंख पर घूंसा मारा। इससे तिलमिला कर मगरमच्छ ने मुझे छोड़ दिया।’ इतना कुछ होने पर भी ली को उम्मीद थी कि सोफी उनके साथ डेट पर जाने के लिए मान जाएंगी। ली का कहना है कि अगर सोफी उनके साथ डेट पर जाने के लिए तैयार हो जातीं, तो उन्हें इतनी बड़ा जोखिम लेने का अफसोस नहीं होता।

इसे भी पढ़िए :  अमेरिका के ‘बमों की मां’ से 4 गुना बड़ा है रूस का ये बम, जानिए क्यों कहा जाता है ‘सभी बमों का बाप’?

अगले पेज पर पढ़िए – आखिर इतने पर भी लड़की क्यों नहीं हुई इम्प्रेस
ली की उम्मीदें उस समय टूट गईं, जब सोफी ने उनसे कहा कि इस पूरे वाकये से वह प्रभावित नहीं हुई हैं। सोफी ने हालांकि यह भी कहा कि ली के प्रति वह कोई आकर्षण महसूस नहीं करतीं और इसीलिए उनके साथ डेट पर नहीं जा सकती हैं। चूंकि सोफी 24 साल की हैं और ली केवल 18 के हैं, ऐसे में सोफी ने उम्र के इस अंतर को भी एक कारण बताया। जिस रेडियो शो ने इस वाकये को प्रसारित किया, उस शो के दौरान ली और सोफी ने एक-दूसरे से बात भी की। सोफी ने इसी शो पर ली को ना कहा। उनके ना कहने के बाद रेडियो शो के मेजबाव ने सोफी से कहा कि उन्हें ली के अस्पताल में हुए खर्च की रकम चुकानी चाहिए, लेकिन शायद सोफी इसके लिए भी तैयार नहीं हुईं।

इसे भी पढ़िए :  सोनिया गांधी को अब भी है बुखार, अभी अस्पताल में रहेंगी भर्ती

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY