जल्द ही पाकिस्तान का साथ छोड़ने वाला है चीन, जानिए क्यों

0
साथ
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

उरी हमले के बाद से भारत आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को अलग थलग करने की मुहिम में जुटा है जिसके साथ भारत को एक नई सफलता मिली है जिसमें जब पाकिस्तान के आर्थिक और सामरिक साझेदार बताए जा रहे चीन ने आतंकवाद के मुद्दे पर साथ देने से इंकार कर दिया। चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि मौजूदा झगड़ा दो पडोसी राष्ट्रों के बीच का है।  इसमें चीन किसी भी पक्ष के समर्थन में नहीं है।

इसे भी पढ़िए :  लता दीदी की अपील, इस बार मेरे जन्मदिन पर केक काटने की बजाय करें सैनिकों की मदद

चीन ने साफ कहा कि इस मसले को दोनों देशों को आपस में ही सुलझाना होगा। चीन के इस रुख से पाकिस्तान को करारा झटका लगा है। क्योंकि अभी तक वह हर मुद्दे पर चीन के खुद के साथ होने का दावा करता रहा है। उरी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान पर कूटनीतिक दबाव बढ़ा दिया है। इसके लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत लगातार पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित करवाने की मुहिम चला रहा है।

इसे भी पढ़िए :  शर्मनाक: 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध

दो दिन पहले काझीकोड़ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पाकिस्तान को सख्त संदेश देते हुए उसे आतंकवाद का निर्यातक देश कहा था। दूसरी ओर संबंधों में जारी जबरदस्त तल्‍खी के बीच पाकिस्तान को भी आशंका है कि भारत उस पर हमला कर सकता है।  इसलिए वह लगातार चीन के समर्थन का दावा कर रहा है।

इसे भी पढ़िए :  इस हॉट ऐक्ट्रेस के साथ डेट कर रहे हैं जूलियन असांज! देखें वीडियो

अगले पेज पर पढ़िए -पाकिस्तान के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बन रहा है माहौल

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY