सिंधु जल संधि को लेकर भारत-पाक दोनों पहुंचे विश्व बैंक

0
फाइल फोटो।

नई दिल्ली। सिंधु जल संधि में मध्यस्थता करने वाले विश्वबैंक ने बुधवार(28 सितंबर) को कहा कि भारत और पाकिस्तान ने उससे संपर्क किया है और ‘‘जैसा कि संधि में तय है, वह अपनी सीमित, प्रक्रियागत भूमिका में जवाब दे रहा है।’’

इसे भी पढ़िए :  बोलीविया के उप गृहमंत्री को खनिकों ने मार डाला

विश्वबैंक के एक प्रवक्ता ने बताया कि ‘‘ भारत और पाकिस्तान ने विश्वबैंक को सूचित किया है कि प्रत्येक ने सिंधु जल संधि 1960 के मुताबिक कार्यवाही शुरू की है और विश्व बैंक समूह अपनी सीमित, प्रक्रियागत भूमिका में जवाब दे रहा है जैसा कि इस संधि में तय है।’’

इसे भी पढ़िए :  बलूच नेता का ऐलान, बलूचिस्तान बना तो पहली मूर्ति नरेंद्र मोदी की लगेगी

प्रवक्ता ने आगे कोई टिप्पणी करने से यह कहते हुए इनकार किया कि ‘‘ इन कार्यवाहियों पर आगे के ब्यौरे के लिए आपको सदस्य सरकारों से पूछताछ करना सबसे अच्छा रहेगा।’’

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिंधु जल संधि के प्रावधानों की समीक्षा के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की थी। इस बैठक में यह तय किया गया कि भारत जल बंटवारा संधि के मुताबिक झेलम सहित पाक नियंत्रित नदियों के पानी का ‘अधिकतम दोहन’ करेगा।

इसे भी पढ़िए :  भारतीय जवान की वापसी के पीछे छिपी थी पाकिस्तान की ये चाल ! जरूर पढ़ें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY