अमेरिका में हीरो बना भारतीय मूल का सिख, न्यूजर्सी ब्लास्ट के संदिग्ध को पकड़ने में की थी मदद

0
अमेरिका
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

अमेरिका में इन दिनों एक भारतीय मूल के सिख परिवार का लड़का नायक बन चुका है। जिसपर हर अमेरिकी गर्व महसूस कर रहा है। हरिंदर बैंस नाम के इस युवक को अमेरिका ने हीरो करार दिया है। दरअसल हरिंदर ने एक ऐसा कारनामा कर दिखाया, जिसकी वजह से अमेरिका में जान और माल का भारी नुकसान होने से बच गया। जी हां हरिंदर ने अपनी जान की परवाह किए बिना मैनहट्टन और न्यूजर्सी में ब्लास्ट की साजिश रचने वाले संदिग्ध अहमद खान रहामी को अरेस्ट करवाने में मदद की थी। सोमवार को एफबीआई ने रहामी को न्यूजर्सी से अरेस्ट किया था। रहामी की फोटो जारी की गई थी, जिसके बाद वो पकड़ में आया।

इसे भी पढ़िए :  पुलिस अफसरों पर हमला बेहद कायराना: बराक ओबामा

हरिंदर बैंस लिंडन स्थित एक बार के मालिक हैं। सोमवार 28 वर्षीय अहमद खान राहामी उनके बार के दरवाजे पर सोता हुआ दिखा। बैंस ने बताया कि वह अपने लैपटॉप पर टीवी समाचार देख रहे थे। बैंस को पहले लगा कि कोई शराबी व्यक्ति दरवाजे पर आराम कर रहा है लेकिन बाद में उन्होंने अहमद खान को पहचान लिया और पुलिस को बुलाया। उन्होंने कहा, ह्यमैं केवल एक आम नागरिक हूंं। मैंने वही किया जो हर नागरिक को करना चाहिए। असली नायक पुलिसकर्मी हैं, असली नायक कानून प्रवर्तन है।

इसे भी पढ़िए :  पीएम मोदी बने सोशल मीडिया के हीरो, बराक ओबामा को छोड़ा पीछे

अधिकारी जब अहमद खान को पकड़ने आए तो उसने बंदूक निकाल ली और गोलियां चलानी शुरू कर दीं। एक गोली एक अधिकारी के सीने में लगी। इसके बाद पुलिस ने उसका पीछा किया। इसी दौरान अहमद खान ने पुलिस की एक कार पर गोलियां चलाईं जिसके कारण एक गोली एक अन्य अधिकारी के चेहरे को छूकर निकल गई। जवाबी कार्रवाई में अहमद खान को कई गोलियां लगीं जिसके बाद उसे पकड़ लिया गया।एक कानून प्रवर्तन अधिकारी ने बताया कि अहमद खान को आॅपरेशन के लिए अस्पताल ले जाया गया। शुरुआत में अहमद खान ने उससे पूछताछ कर रही पुलिस के साथ सहयोग नहीं किया।

इसे भी पढ़िए :  G-20 समिट में भारत से नहीं मिलेगा चीन, कहा- तनाव के हालात में बात नहीं

अगले स्लाइड में पढ़े पूरी खबर, next बटन पर क्लिक करें

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY