US की सद्भावना दूत बनी ISIS के चंगुल से छूटी लड़की, किए कई सनसनीखेज़ खुलासे

0
isis
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के चंगुल से सफलता पूर्वक बच निकली एक इराक़ी युवती को संयुक्त राष्ट्र का सद्भावना दूत बनाया गया है। ISIS के आतंकियों की गिरफ्त में इसे बलात्कार जैसी कई प्रताड़नायें सहनी पड़ीं थी। 23 वर्षीय इस युवती को मानव तस्करी के चंगुल से बचने वाले लोगों के सम्मान में ये उपाधि दी गयी है।

इसे भी पढ़िए :  ISIS के चंगुल में फंसे केरल के पादरी ने पीएम मोदी से लगाई रिहाई की गुहार, देखें वीडियो

नादिया मुराद बसी ताहा नाम की 23 वर्षीय यजीदी युवती ने कल जिहादी समूह के पीड़ितों के लिए इंसाफ का आह्वान किया और कहा कि 2014 में यजीदी लोगों पर किए गए हमले को जनसंहार करार दिया जाना चाहिए। नादिया को इराक के उत्तरी शहर सिंजर के पास स्थित उनके गांव कोचो से अगस्त 2014 में उठा कर आईएस के नियंत्रण वाले मोसुल में ले आया गया था। वहां उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया और उसे कई बार खरीदा-बेचा गया।

इसे भी पढ़िए :  25 साल जेल में बिताने के बाद कोर्ट ने बताया बेगुनाह, किया रिहा
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY